123ArticleOnline Logo
Welcome to 123ArticleOnline.com!
ALL >> Politics >> View Article

मीडिया और सत्ता द

By Author: chander shekhar
Total Articles: 1

मीडिया और सत्ता दोनों देश-विरोधी ताकतों के दरवाजे

मीडिया और सत्ता दोनों देश-विरोधी ताकतों के दरवाजे पर खड़ा है क्या ऐसे आएगी कश्मीर में शांति ? कश्मीर में बुरहानवानी की मौत के बाद से ही तनाव बना हुआ है । 60 वे दिन भी कई जगह पर कर्फ्यू लगा हुआ है ओर कश्मीर में शांति बहाली के लिए राजनाथ सिंह ने आल-पार्टी -मीटिंग की जिसमे कश्मीर में सभी पक्षो से बातचीत करने के पक्ष में फैंसला किया गया ,जिसमे से अलगाववादियों से भी बातचीत शामिल रही । उसके बाद कश्मीर पर सभी पक्षो से बातचीत के लिए एक प्रतिनिधि-मंडल राजनाथ सिंह की अगुवाई में कश्मीर गया । जिसमे सीताराम सेंचुरी ,शरदयादव और ओवेसुदीन ओवेसी भी शामिल थे ।

लेकिन प्रतिनिधि मंडल को वहा से बैरंग ही लौटना पड़ा ।अलगाववादियो ने बातचीत करने से मना कर दिया । इधर सरकार अलगाववादियों से बातचीत करना चाहता है उधर प्रिंट मीडिया के एक नामी अख़बार में हिज़्बुल मुजाहिदीन चीफ सईद सलाहुदीन का एक इंटरव्यू छपा है । सरकार और मीडिया किसी भी देश के दो महत्वपूर्ण अंग होते है और मीडिया को तो हमारे यह चौथा स्तम्भ कहा जाता है । सवाल यही है की जब सरकार अलगाववादियों और मीडिया आंतकवादियो की राय कश्मीर पर छापेगा तो रास्ता निकले गया किधर से ।

हिज़्बुल मुजाहिदीन चीफ सईद सलाहुदीन की भारत विरोधी बाते :

14232523_1091237224300884_8021193460347060203_n
इंटरव्यू पेपर कटिंग

एक देश एक नामी अख़बार में एक इंटरव्यू छपा है जिससे उसकी राय मांगी जा रही है कश्मीर पर ।जिसमे उसने कहा की कश्मीर का मुद्दा जवाहरलाल नेहरू के समय से अनसुलझा हुआ है और जवाहरलाल नेहरू ने कहा था की कश्मीर के लोगो को उनके अधिकारों के लिए कश्मीरियो को निर्णय लेने का अधिकार दिया जायेगा । लेकिन समय बीतने के साथ ना केवल भारत बल्कि यूएन भी अपनी प्रतिज्ञा से मुकर गया है । उसने कहा की अबकी सरकार ने कश्मीर के लोगो को उनके अधिकार से वंचित रखने के लिए सेना लगा रखी है जिससे की हालात और भी पेचीदा हो गए है । लेकिन हर बार कश्मीरी लोग 70 साल से अपने हक़ से वंचित रहे है ,लेकिन वो अपने हक़ लेने के लिए दृढ़ है और जम्मू-कश्मीर की सड़को पर आप ये सब देख सकते है ओर वानी की शहादत के बाद इस मूवमेंट में तेजी आयी है ।

सलाहुदीन की पाकिस्तान को सलाह

सलाहुदीन ने पाकिस्तान सरकार को भी राय दी है की उसको अपने उच्चायुक्त भारत भारत से वापिस बुला लेने चाहिए और अपने सारे आर्थिक ,सामाजिक -सांस्कृतिक और कूटनीतिक रिश्ते खत्म कर देने चाहिए और कश्मीरियो को उनका हक़ दिलाने के लिए यूएन असेंबली ओर इंटरनेशनल कम्युनिटी को लामबंद करने के लिए अभियान चलाये ।

यूएन को भी कोसा

सलाहुदीन ने यूएन को भी उसके दोहरा मापदंड अपनाने के लिए कोसा । सलाहुदीन ने कहा की चीन एक बढ़ती आर्थिक शक्ति है और भारत उनके लिए अपने हथियार बेचने का एक बड़ा मार्किट है ,इसलिए उनके भारत के साथ आर्थिक फायदे जुड़े हुए है ओर इसलिए रणनीतिक तौर पर भारत उनके लिए महत्वपूरण है इसलिए चीन को कण्ट्रोल में रखने के लिए भारत को मजबूत रखना चाहता है इसलिए वो दोहरा मापदंड अपनाता है ।
लेकिन बात वही आकर रूकती है की जब सरकार कश्मीर में शांति के अलगाववादियों का दरवाजा खटकायेगी और नामी ओर प्रथिष्ठित अख़बार ऐसे भारत विरोधी पाकिस्तानी आंतकवादियो के इंटरव्यू करेगी तो रास्ता जायगा कहा । जबकि सबको पता है को कश्मीर की अशांति के पीछे ऐसे ही लोगो का हाथ है जो घाटी को शांत नहीं होना देने चाहते ।

Total Views: 220Word Count: 581See All articles From Author

Politics Articles

1. Db Realty - Indian Luxury Real Estate Market
Author: DB Realty

2. Online Guide To Arizona Elections
Author: Christian R Komor

3. New Mexico’s Biggest Issues Need A Strong Voice In Congress
Author: Paul Moya

4. Aadhaar; All You Need To Know
Author: Thamanna Abdul Latheef

5. Gap Between Skilled And Unskilled, Rural And Urban, Online And Offline Is Reducing; Bharat No Longer
Author: Rahul

6. The True Picture: Presenting News In A Better Light
Author: thetruepicture

7. Last Four Chief Minister Of Punjab, Pakistan
Author: Mr. Taranu Singla

8. Data Journalism India
Author: thetruepicture

9. The True Picture: Factual Truth And The Ways To Bring Them Out-front
Author: thetruepicture

10. Top 10 Unresolved International Controversies
Author: bronparkson

11. Paul Moya - A Leader Bringing Change For The Better
Author: Paul Moya

12. Why Was Arvind Kejriwal Not Invited? A Look At Delhi Metro Protocol And Facts Of Magenta Line
Author: thetruepicture

13. Youth For Nation, Karnataka, Bangalore. Youth In Politics.
Author: Youth for Change

14. Swarajlive - The Future Of Newspaper
Author: swaraj live

15. Mr. Mohit Madanlal Grover
Author: Mr. Mohit Madanlal Grover

Login To Account
Login Email:
Password:
Forgot Password?
New User?
Sign Up Newsletter
Email Address: